पुलिस ने चोरी छिपाने के लिए चूहे को ही पहना दी टोपी, कहा- सात महीने में 20 किलो गांजा चट कर गए चूहे

211

Patna:पूर्ण प्रतिबंध वाले सूबे में अबतक चूहे जब्त शराब ही पी जा रहे थे। बरारी थाने में तो चूहे मालखाने में रखा 20 किलो गांजा खा कर हैरत में डाल दिया है। जी हां बरारी थाने के मालखाने में चूहे लगभग सात महीने में 20 किलो गांजा चट कर गए हैं। चूहे इतने सयाने निकले कि 37 बंडल में रखे 92.50 किलो गांजे से इस कदर गांजा निकाल खाया कि दो खाली बंडल में दो-ढाई सौ ग्राम गांजा छोड़ दिया था।

करीने से प्लास्टिक और सेलो टेप से साट कर रखे गए शेष पैकेट को चूहे अपनी दांतों से छेड़ा तक नहीं। है ना हैरान करने वाली घटना। बरारी पुलिस ने चोरी छिपाने के लिए चूहे को ही टोपी पहना दी लेकिन न्यायालय में पुलिस की चालाकी पकड़ ली गई। शुक्रवार को जब्त 92.50 किलोग्राम गांजा जब वजन कराया गया तो वह 79.50 ग्राम ही निकला। यानी 20 किलो गांजा गायब था। जांचकर्ता दारोगा दुर्गानंद हांसदा मुंह छिपाते नजर आए। लेकिन स्थिति संभाल यह कहने लगे कि चूहे गांजा खा लिए होंगे। गांजा तौल के बाद पैकेट के ऊपर उसका वर्तमान वजन लिखकर चिपका दिया गया है। मामले में फजीहत झेल रहे जांच अधिकारी पर गाज गिरना तय माना जा रहा है।

सिटी डीएसपी राजवंश सिंह के नेतृत्व में जब्त हुआ था गांजा

सिटी डीएसपी राजवंश सिंह के नेतृत्व में 11 फरवरी 2020 की रात विक्रमशिला सेतु के पास कार से गांजा जब्त किया गया था। टीम में इंस्पेक्टर कृष्ण कुमार शर्मा, बरारी थानाध्यक्ष नवनीश कुमार, दारोगा अवधेश प्रसाद चौधरी समेत कई पदाधिकारी शामिल थे। गुप्त सूचना पर चेकिंग के क्रम में एक सफेद रंग के वाहन को रोकने का इशारा किया गया था। वाहन चालक तेजी से वाहन लेकर जाने लगा। पीछा करने पर कुछ दूरी पर सड़क किनारे वाहन छोड़ चालक और उसमें बैठे व्यक्ति अंधेरे का लाभ उठा भाग निकले थे। टाटा ज्येस्ट जेएच 01डीए-7169 की डिग्गी से तब गांजा बरामद किया गया था। सिटी डीएसप के समक्ष दारोगा नवनीश कुमार के बयान पर केस दर्ज किया गया था। सिटी डीएसपी जब्ती सूची भी स्वयं तैयार करवा कर अपना दस्तखत किया था। कार की डिग्गी से तब ढाई किलो के प्रत्येक बंडल में कुल 92.50 किलो गांजा बरामद किया गया था। बरामद गांजे को सील कर चालक और वाहन मालिक के विरुद्ध केस दर्ज किया गया था।

केस दर्ज करते समय अंदाज से गांजे का वजन लिख दिया गया था। लॉकडाउन में रखा-रखा गांजा सूख भी गया जिससे वजन कम हो गया। – नवनीश कुमार, पुलिस अवर निरीक्षक, पुलिस केंद्र, भागलपुर
मालखाने से गांजा गायब होना गंभीर मामला है। इसकी जांच कराएंगे। जांच में दोषी पाए जाने पर कार्रवाई होगी। – आशीष भारती, एसएसपी, भागलपुर।

मुख्‍य बातें

– 11 फरवरी 2020 को कार से विक्रमशिला सेतु पर बरामद किया गया था 92.50 किलो गांजा
– कोर्ट के आदेश पर गांजा की नापी कराई गई तो उजागर हुआ मामला