भारत में आने के लिए नेपाल में फर्जी तरीके से बन रहे आधार कार्ड, बढ़ा सुरक्षा का खतरा

85

Patna: एक तरफ जहां भारत और नेपाल के बीच में तनाव की स्थिति बनी हुई है वहीं दूसरी तरफ कोरोना काल में नेपाल में फर्जी तरीके से भारतीय आधार कार्ड बनाने की खबर सामने आई है. बुधवार को भारत में प्रवेश करने के लिए बनबसा सीमा पर नेपाली नगारिकों की लंबी कतार देखी गई.

मामले में टनकपुर के एसडीएम ऑफिसर हिमांशु कफाल्टिया ने कहा कि बनबसा सीमा से भारत में आने के लिए बहुत से नेपाली नागरिक भारतीय आधार कार्ड बना रहे हैं जो सुरक्षा जोखिम पैदा कर सकता है. मामले में टनकपुर के एसडीएम ऑफिसर हिमांशु कफाल्टिया ने कहा कि बनबसा सीमा से भारत में आने के लिए बहुत से नेपाली नागरिक भारतीय आधार कार्ड बना रहे हैं जो सुरक्षा जोखिम पैदा कर सकता है. मामले में टनकपुर के एसडीएम ऑफिसर हिमांशु कफाल्टिया ने कहा कि बनबसा सीमा से भारत में आने के लिए बहुत से नेपाली नागरिक भारतीय आधार कार्ड बना रहे हैं जो सुरक्षा जोखिम पैदा कर सकता है.

हिमांशु कफाल्टिया ने कहा कि कि इस संबंध में ज्यादातर नेपाली लोगों के आधार कार्ड की सुरक्षा का विषय सामने आया है, हालांकि इस संबंध में पहले भी अन्य अधिकारियों के समक्ष यह मुद्दा उठाया गया है. हिमांशु कफाल्टिया ने कहा कि कि इस संबंध में ज्यादातर नेपाली लोगों के आधार कार्ड की सुरक्षा का विषय सामने आया है, हालांकि इस संबंध में पहले भी अन्य अधिकारियों के समक्ष यह मुद्दा उठाया गया है.

हिमांशु कफाल्टिया ने कहा कि कि इस संबंध में ज्यादातर नेपाली लोगों के आधार कार्ड की सुरक्षा का विषय सामने आया है, हालांकि इस संबंध में पहले भी अन्य अधिकारियों के समक्ष यह मुद्दा उठाया गया है. एसडीएम ऑफिसर हिमांशु कफाल्टिया ने बताया कि जांच के दौरान नेपाल से भारत में प्रवेश कर रहे सभी लोगों के पहचान पत्र के साथ सभी जरुरी जानकारी देखी जा रही हैं. इसके अलावा यह भी पूछा जा रहा है कि भारत में नेपाली नागरिक क्या कार्य करते हैं और किस ठेकेदार ने उनका आधार कार्ड बनाया है. बता दें कि लॉकडाउन के दौरान से ही भारत-नेपाल के बीच तनाव स्थित बनी हुई है. जिसके चलते मार्च महीने में भारत-नेपाल से जुड़ने वाली सभी सीमाओं को बंद कर दिया गया था.