‘बाबा का ढाबा’ हुआ हाई-फाई, काउंटर संभालते हैं कांता प्रसाद, कर्मचारी करते हैं काम

88

Desk: इंटरनेट पर कब क्या वायरल हो जाए ये किसी को पता नहीं होता और कई लोगों की इससे जिंदगी भी बदल जाती है. कुछ ऐसा ही हुआ है दिल्ली के उस बुजुर्ग कांता प्रसाद के साथ, जो अब पूरी दुनिया में ‘बाबा का ढाबा’ के नाम से मशहूर हो चुके हैं. कभी एक छोटी सी दुकान में खाना बनाने वाले और उसके नहीं बिकने पर रोने वाले कांता प्रसाद के अब दिन बदल चुके हैं. बाबा ने अब एक बड़ा सा हाई-फाई ढाबा खोला है, जिसमें अब वो खुद काउंटर संभालते हैं. इस नई दुकान का किराया सिर्फ 35 हजार रुपये प्रति महीना है.

बाबा के नए ढाबे में सीसीटीवी कैमरा भी लगा हुआ है, जिससे वो ढाबे में आ रहे ग्राहकों और अपने कर्मचारियों के काम पर नजर रखते हैं. ढाबे में ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए तरह-तरह की पेंटिंग्स का इस्तेमाल किया गया है. बाबा का ढाबा उस वक्त हिट हुआ था जब एक यूट्यूबर गौरव वासन ने उनका रोते हुए वीडियो बनाया था और लोगों से वहां आकर खाना खाने की अपील की थी. इसके बाद बाबा के ढाबे पर ना सिर्फ ग्राहकों की लंबी-लंबी लाइन लग गई बल्कि उन्हें ऑनलाइन-ऑफलाइन लाखों रुपये की मदद भी मिली. इसके बाद बाबा और गौरव वासन के बीच पैसों की हेराफेरी को लेकर विवाद हो गया.

बाबा ने गौरव पर मदद में मिले पैसों को गायब करने का आरोप लगाया था. इसपर बाबा को हिट कराने वाले यूट्यूबर गौरव वासन ने कहा था कि उन पर लगाए गए सभी आरोप झूठे हैं. बाबा को कोई गुमराह कर रहा है, मुझ पर जानबूझकर खुन्नस निकाली जा रही है, पुलिस अब इस मामले में सच सामने ले आएगी.

बता दें कि बीते दिनों ‘बाबा का ढाबा’ चलाने वाले कांता प्रसाद ने अपनी जान को खतरा बताया था. वो इतने खौफ में हैं कि उन्हें घर से बाहर निकलने में भी डर लगता है. बाबा का आरोप है कि उनको लगातार जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं, उनके ढाबे को जलाने के लिए धमकी मिल रही है.

शोहरत और कामयाबी रातोरात किस्मत कैसे बदलती है, इसकी जीती जागती मिसाल हैं बाबा का ढाबा चलाने वाले कांता प्रसाद . बाबा का आरोप है कि अचानक मिली इस शोहरत के कारण कई लोग उनसे जलने लगे हैं.