बिहार में 1 अगस्त से जेब पर पड़ेगा सीधा असर, क्योंकि बदलने वाले हैं ये नियम

286

Patna: अगले महीने के पहली तारीख से पैसों से जुड़े कई बड़े बदलाव होने वाले हैं. इन बदलावों में बैंक लोन से लेकर पीएम किसान स्कीम तक शामिल है. इन बदलावों की वजह से कई चीजें सस्ती हो जाएंगी. ऐसे में अगर इनपर ध्यान नहीं दिया तो आपको नुकसान भी उठाना पड़ सकता है.

10 करोड़ किसानों के खाते में PM-Kisan की रकम आएगी

केंद्र सरकार ने गरीब और कमजोर किसानों के लिए पीएम किसान सम्मान निधि जिसे पीएम किसान योजना भी कहते हैं, के तहत किसानों के खातों में अबतक पांच किस्त डाल चुकी है. अब 1 अगस्त से इस योजना के तहत मोदी सरकार किसानों के बैंक खाते में 2000 रुपए की छठी किस्त भेजने वाली है. सरकार ने इस योजना की शुरुआत से लेकर अब तक देश के किसानों के खाते में 9.85 करोड़ की राशी डाल चुकी है.

सस्ता होगा कार और बाइक खरीदना

इस समय गाड़ी खरीदने वाले लोगों को मोटर व्हीकल इंश्योरेंस में होने वाले बदलाव का फायदा होने वाला है. इससे कोरोना काल में करोड़ों लोगों को फ़ायदा मिलेगा. दरअसल अगर आप नई कार या मोटरसाइकिल खरीदना चाहते हैं तो 1 अगस्त के बाद आपको ऑटो इंश्योरेंस के ऊपर कम पैसे खर्च करने होंगे. भारतीय बीमा विनियामक विकास प्राधिकरण (IRDAI) ‘मोटर थर्ड पार्टी’ और ‘ओन डैमेज इंश्योरेंस’ (Motor Third Party and Own Damage Insurances) इंश्योरेंस से जुड़े नियम में बदलाव करने जा रही है.

मिनिमम बैलेंस और लेनदेन के नियम में बदलाव

कोरोना से देश की अर्थव्यस्था पर बहुत बुरा असर पड़ा है. ऐसे में अपनी हालत को सुधरने के लिए कई बैंकों ने अपनी नकदी संतुलन के लिए नियमों में बदलाव किये हैं. साथ ही कैश ट्रांजेक्शन पर लगाम लगाने और डिजिटल ट्रांजेक्शन को बढ़ाने के लिए 1 अगस्त से न्यूनतम बैलेंस पर चार्ज लगाने की घोषणा की है. वहीं, तीन बार के मुफ्त लेनदेन के बाद बैंक ऑफ महाराष्ट्र (Bank of Maharashtra), एक्सिस बैंक (Axis Bank), कोटक महिंद्रा बैंक (Kotak Mahindra Bank) और आरबीएल बैंक (RBL Bank) में शुल्क भी वसूला जाएगा. यह चार्ज एक अगस्त से प्रभावी हो जाएंगे. इन बैंकों ने मिनिमम बैलेंस की रकम को भी बढ़ा दिया है.

RBL बैंक ने सेविंग खाते के नियम बदले

इस बैंक ने हाल में सेविंग खाते पर ब्याज दरों में बदलाव किया है. नई दरें 1 अगस्त से लागू हो जाएंगी. नए दर के हिसाब से सेविंग खाते में एक लाख रुपये तक की जमा पर 4.75 फीसदी सालाना ब्याज मिलेगा. वहीं, 1-10 लाख रुपये तक के जमा पर 6 फीसदी और 10 लाख रुपये से 5 करोड़ रुपये तक के जमा पर 6.75 फीसदी ब्याज मिलेगा. इस के आलावा डेबिट कार्ड के खो जाने या फिर डैमेज हो जाने पर 200 रुपये का चार्ज देना होगा. वहीं, अब टाइटेनियम डेबिट कार्ड के लिए सालाना 250 रुपये चुकाने होंगे.

ई-कॉमर्स कंपनियों को प्रॉडक्ट के कंट्री ऑफ ओरिजिन की जानकारी देनी होगी

पड़ोसी देश चीन के साथ बिगड़ते संबंध का सीधा असर व्यापर पर पड़ा है. आयात निर्यात के कई नियमों में बदलाव किये गए हैं. इसी के तहत ई-कॉमर्स कंपनियों से कहा गया है कि वो अब अपने प्रोडक्ट्स लिस्टिंग में कंट्री ऑफ ओरिजन दर्शायें. प्रधानमंत्री द्वारा आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत स्थानीय उत्पादों को प्रमोट करने के लिए यह पहल की गई है.