स्टार्टअप इंडिया में बिहार बना नंबर वन, केंद्र सरकार ने जारी की रैंकिंग

267

Patna:बिहार के उन युवाओं के लिए अच्छी खबर है, जिनके दिमाग में बिजनेस से जुड़ा कोई नया विचार पल रहा है. उद्योग क्षेत्र में नवाचार के मामले में बिहार पूरे देश में अव्वल रहा है. स्टार्टअप इंडिया की ओर से वर्ष 2019 के उद्योग से जुड़े विभिन्न क्षेत्रों में राज्यों की रैंकिंग केंद्र ने जारी की है. बिहारी युवाओं ने एक बार फिर यह साबित किया है कि नए और बेहतरीन विचारों के मामले में उनका कोई सानी नहीं है.

केंद्र सरकार ने सात अलग-अलग कैटेगरी में सूची जारी की है. इसमें नवाचार यानी इवोनेशन लीडर तैयार करने के मामले में बिहार पहले पायदान पर है. दूसरा नाम केरल और तीसरा महाराष्ट्र का है. खास बात यह भी है कि देश की व्यावसायिक राजधानी मुंबई वाला राज्य महाराष्ट्र इस सूची में बिहार से दो पायदान नीचे है.

उद्योग क्षेत्र में नए विचारों को मूर्त रूप देने के लिए बिहार ने 2016 में अपनी स्टार्टअप नीति लागू की थी. तब बिहार उन गिने-चुने राज्यों में से था जिन्होंने अपनी अलग स्टार्टअप नीति बनाई थी. सीएम नीतीश कुमार के निर्देश पर 2017 में इस नीति में कुछ बदलाव कर इसे और प्रभावी बनाया गया. स्टार्टअप के लिए सरकार अब औद्योगिक क्षेत्रों में जमीन देने की भी व्यवस्था करने जा रही है.

उद्योग क्षेत्र में भी बिहार लीडर
केंद्र द्वारा सात कैटेगरी में जारी की गई राज्यों की रैंकिंग में बिहार का नाम दो श्रेणियों में पहले पायदान पर है. नवाचार के अलावा लीडर कैटेगरी में भी राज्य पहले पायदान पर है. इस कैटेगरी में बिहार के अलावा महाराष्ट्र, चंडीगढ़, ओडिशा और राजस्थान का नाम है.

स्टार्टअप को लेकर बिहार सरकार बेहद संजीदा रही है. नवाचार के लिए सबसे पहले बिहार ने ही 10 लाख रुपये नए स्टार्टअप को देने की व्यवस्था की. सरकार और भी सुविधाएं देने जा रही है.
-डॉ. एस. सिद्धार्थ, प्रधान सचिव, उद्योग