न तारीख बदलेगी, न सेंटर, 27 दिसंबर को होकर रहेगी BPSC-PT

89

Patna: बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) की प्रारंभिक परीक्षा (PT) की न तारीख बदलेगी और न ही सेंटर बदला जाएगा। इसके लिए आ रहे आवेदनों को किनारे कर BPSC ने कोरोना काल में होने वाली देश की सबसे बड़ी फिजिकल परीक्षा के लिए अंतिम हफ्ते की तैयारी शुरू कर दी है। 27 दिसंबर को 66वीं PT के लिए सोमवार तक 83% अभ्यर्थियों ने एडमिट कार्ड डाउनलोड भी कर लिए हैं। BPSC ने कोरोना गाइडलाइन और परिवहन में परेशानी को देखते हुए अरवल, शिवहर और शेखपुरा को छोड़ राज्य के 35 जिलों में 888 केंद्र बनाए हैं। केंद्रों की संख्या पिछली बार से 88 ज्यादा है।

कोरोना काल में परीक्षा के लिए पहुंचने वालों पर संशय

BPSC ने 66वीं PT के लिए 27 दिसंबर की तारीख पक्की करने से पहले 6 दिसंबर को न्यायिक सेवा परीक्षा का ट्रायल भी ले लिया। कोरोना काल में परीक्षार्थियों की उपस्थिति का अंदाजा भी इस परीक्षा से हो गया। इस परीक्षा में 40% अभ्यर्थी ही परीक्षा केंद्रों तक पहुंचे। BPSC से मिली जानकारी के अनुसार 66वीं PT के लगभग बराबर ही 65वीं PT में भी आवेदक थे, लेकिन करीब 3 लाख परीक्षार्थी ही केंद्रों तक पहुंचे थे। इस बार कोरोना के कारण परीक्षार्थियों की संख्या इससे भी घट सकती है, हालांकि अबतक 3 लाख 77 हजार 500 आवेदकों ने एडमिट कार्ड डाउनलोड कर लिया है।
परीक्षा केंद्रों की संख्या 11% प्रतिशत बढ़ाई गई

BPSC ने “कोरोना काल में परीक्षार्थियों के बीच दूरी जरूरी” की गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए परीक्षा केंद्रों की संख्या 11 प्रतिशत बढ़ा दी है। 65वीं PT में 800 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे, इस बार 888 केंद्रों पर परीक्षा ली जाएगी। कोरोना के बीच परिवहन में परेशानी को देखते हुए ही BPSC ने छोटे जिलों अरवल, शिवहर और शेखपुरा में परीक्षा केंद्र नहीं दिया है।

सिर्फ महिलाओं को गृह जिला, पुरुष परीक्षार्थी जिलाबदर

कोरोना काल में परिवहन की परेशानी के बावजूद तकनीकी कारणों का हवाला देते हुए BPSC ने 66वीं PT के लिए सभी पुरुष परीक्षार्थियों का परीक्षा केंद्र उनके गृह जिले से बाहर रखा है। BPSC के सचिव केशव रंजन प्रसाद और परीक्षा नियंत्रक अमरेंद्र कुमार ने दैनिक भास्कर को बताया कि परीक्षार्थियों की ओर से परीक्षा केंद्र में बदलाव के लिए आवेदन तो आए, लेकिन इसपर विचार संभव नहीं दिखा। परीक्षार्थियों के परीक्षा केंद्र रैंडमली दिए गए हैं। यह कंप्यूटर सॉफ्टवेयर ने फीड किया है और इसमें पुरुषों को गृह जिला छोड़ 35 में से किसी भी जिले में केंद्र देने का ऑप्शन है। महिलाओं के लिए गृह जिले का ऑप्शन इसमें फीड है और कंप्यूटर ने जिसे जो सेंटर दिया होगा, उसमें बदलाव संभव नहीं है। परीक्षार्थियों को आवेदन के समय भी यह दिशा-निर्देश मिला हुआ था।

कोरोना गाइडलाइन को लेकर निर्देश

कोरोना गाइडलाइन का पालन करने को लेकर 35 जिलों के ADM के साथ BPSC ने पटना में सोमवार को बैठक की और जरूरी निर्देश दिए। एक बेंच पर दो ही अभ्यर्थी बैठ सकेंगे। सभी अभ्यर्थियों को निर्देश दिया गया है कि वे मास्क लगाकर परीक्षा केन्द्रों पर आएं। सैनिटाइजर रखने को भी कहा गया है। हालांकि केन्द्रों पर भी सैनिटाइजर का इंतजाम रहेगा। BPSC ने कोरोना गाइडलाइन का पालन करने को लेकर राशि जिला पदाधिकारी को भेज दी है।