राम मंदिर भूमि पूजन में प्रधानमंत्री मोदी के साथ मौजूद रहेंगे CM नीतीश !

191

Patna:अब लगभग ये बात तय मानी जा रही है कि पांच अगस्त 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के हाथों राम मंदिर के पुनिर्निमाण के लिए भूमि पूजन होगा. हालांकि, प्रधानमंत्री कार्यलाय (PMO) की ओर से अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है. इस बीच सूत्रों से खबर आ रही है कि यह कार्यक्रम भी कुछ-कुछ वैसा ही यादगार होगा जैसा कि 1989 में विश्व हिंदू परिषद (VHP) द्वारा आयोजित शिलान्यास कार्यक्रम में था. खबर ये भी आ रही है कि राम मंदिर आंदोलन (Ram Temple Movement) से जुड़े सभी वरिष्ठ बीजेपी नेताओं को भूमि पूजन कार्यक्रम में आमंत्रित किया जाएगा. इनमें लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी के अलावा अमित शाह, राजनाथ सिंह को भी आमंत्रित किए जाने की बात सामने आ रही है.

सीएम नीतीश व उद्धव ठाकरे भी रहेंगे उपस्थित!

हालांकि राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के एक वरिष्ठ सदस्य ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि अतिथियों की सूची ढाई सौ से तीन सौ तक ही सीमित रखी जाएगी. उन्होंने जानकारी दी कि कार्यक्रम तो ये तय किया गया था कि सभी राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों के सीएम और सभी धर्म के शीर्ष लोग शामिल हो सकें, लेकिन कोरोना संकट को देखते हुए क्या फैसला होता है ये तो आने वाले वक्त में ही पता लग पाएगा. इस बीच खबर ये है कि राम मंदिर तीर्थ ट्रस्ट ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे को आमंत्रण भेजने का मन बनाया है. हालांकि इस बारे में क्या कोई बातचीत हुई है, इस बात की बिहार सरकार ने अभी पुष्टि नहीं की है.

RSS प्रमुख भी कर सकते हैं कार्यक्रम में शिरकत

वहीं, जानकारी ये भी आ रही है कि राम मंदिर आंदोलन में सक्रिय रहीं उमा भारती, विनय कटियार, साध्वी ऋतंभरा जैसी हस्तियों को भी इस कार्यक्रम में उपस्थित रहने के लिए आमंत्रण पत्र भेजा जाएगा. इनके अलावा विश्व हिंदू परिषद की ओर से आलोक कुमार और मिलिंद परांदे कार्यक्रम में रहेंगे. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत व अन्य वरिष्ठ नेता भी उपस्थित रह सकते हैं.

पीएम नरेंद्र मोदी रखेंगे भूमि पूजन की पहली ईंट

बताया जा रहा है कि राम मंदिर तीर्थ ट्रस्ट से जुड़े सदस्य व कार्यकर्ताओं के अलावा कार्यक्रम में 50 से अधिक वीआईपी नहीं रहेंगे. कोरोना को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन होगा. मिली जानकारी के अनुसार इसके अलावा अयोध्या के 5 से 6 जगहों पर बड़ी स्क्रीन लगाई जाएगी ताकि श्रद्धालु भी भूमि पूजन कार्यक्रम को देख सकें. ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास के प्रवक्ता महंत कमल नयन दासके अनुसार पीएम मोदी द्वारा भूमिपूजन के दौरान गर्भगृह के अंदर चांदी की पांच ईंटे रखी जाएंगी. ये ईंट हिंदू धर्म के अनुसार, पांच गृहों का प्रतीक होंगे.