बिहार में एकसाथ मिले 704 नए कोरोना मरीज, राज्य में आंकड़ा पहुंचा 13978

68

Patna:राजधानी पटना (Corona In Patna) समेत पूरे राज्य में बढ़ रही कोरोना मरीजों की संख्या को ध्यान में रखते हुए रेलवे के कोविड कोच (Railway Covid Isolation Coach) में भी संक्रमितों का इलाज होगा. रेलवे ने काफी पहले ही ट्रेन की बोगियों को आइसोलेशन वार्ड (Corona Isolation Coach) के तौर पर तैयार किया था इनमें से 40 कोचों को पटना जंक्शन के प्लेटफॉर्म नंबर छह और सात पर लगाया है. इन 40 कोचों में 640 कोरोना संक्रमितों का इलाज होगा. रेलवे ने इन कोचों को तैयार करके जिला प्रशासन को सोंप दिया है

जिला प्रशासन ने कोविड मरीज़ों के इलाज की जताई सहमति

पटना में कोरोना मरीजों की संख्या को देखते हुए जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जंक्शन का निरीक्षण करने के बाद कोविड कोच में मरीजों के इलाज करने पर सहमति जताई है. दानापुर डीआरएम सुनील कुमार के निर्देश पर पटना जंक्शन के निदेशक डॉ. नीलेश कुमार ने स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन की टीम को सभी व्यवस्थाओं से अवगत कराया. संक्रमितों, डॉक्टरों और नर्सिंग स्टाफ गेट नंबर छह से इंट्री करेंगे. इस रास्ते से रेलकर्मी भी नहीं आ सकेंगे. इस रास्ते को बुधवार से सेनेटाइज किया गया.

दो से तीन दिनों में शुरू होगा इलाज

दो से तीन दिनों में यहां संक्रमितों का इलाज शुरू हो सकता है. पटना जंक्शन के प्लेटफॉर्म संख्या 6 और 7 पर सभी 40 कोच लगा दिए गए हैं. ये दोनों प्लेटफॉर्म आइलैंड प्लेटफॉर्म के रूप में रहेंगे. प्लेटफॉर्म के दोनों छोर की बैरिकेडिंग कर दी गई है. कोई भी आदमी इस प्लेटफॉर्म पर नहीं आ सकता है. ऐसे में कोरोना मरीजों को पूरी तरह पहरेदारी में रहना होगा.

100 से अधिक मौत

मालूम हो कि बिहार में कोरोना के मरीजों की संख्या जहां 13 हजार के पार कर गई है तो वहीं मौत का आंकड़ा भी 100 के पार हो गया है. कोरोना के बढ़ते कहर को देखते हुए ही पटना समेत कई अन्य शहरों को भी फिर से लॉकडाउन किया गया है.