चुनाव से पहले बनकर तैयार हो जाएगा दरभांगा एयरपोर्ट, जायजा लेने पहुंचे CM नीतीश

192

Patna:बुधवार को CM नीतीश ने दरभंगा के वायुसेना केंद्र स्थित विद्यापति टर्मिनल में निर्माणाधीन सिविल एयर स्ट्रिप, रनवे टर्मिनल का निरीक्षण किया. इस दौरान मुख्यमंत्री ने भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण के डीजीएम को दरभंगा एयरपोर्ट के हवाई पट्टी एवं टर्मिनल भवन के बचे हुए कार्य को तीव्र गति से पूरा करने का निर्देश दिया. कहा कि दरभंगा का हवाई अड्डा एक अत्यंत महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट है. इसके चालू हो जाने पर दरभंगा सहित पूरे उत्तर बिहार के लोगों को हवाई यात्रा करने में सहूलियत होगी. साथ ही पूरे उत्तर बिहार में नए व्यवसाय की संभावना बढ़ेगी. इस इलाके में आर्थिक गतिविधियां भी बढ़ेंगी.

इस दौरान सीएम नीतीश कुमार ने दरभंगा के डीएम डॉ. त्यागराजन एसएम को दरभंगा हवाई अड्डा के निर्माण कार्य का नियमित अनुश्रवण करते रहने एवं जो भी कार्य आवश्यक है, उसे तेजी से पूरा कराने का निर्देश दिया. निरीक्षण के दौरान एयरपोर्ट ऑथिरिटी के डीजीएम ने संबंधित एजेंसी को फंड की समस्या होने की ओर मुख्यमंत्री का ध्यान आकृष्ट कराया. इस पर सीएम ने तत्क्षण केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पूरी से बात कर फंड की समस्या का तत्काल हल निकालने का अनुरोध किया.

इतना ही नहीं, दरभंगा एयरपोर्ट परियोजना के अत्यधिक महत्व को देखते हुए भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण के चेयरमैन से बात करके फंड की समस्या को दूर करने के साथ-साथ अन्य सभी बाधाओं का भी शीघ्र समाधान करने का आग्रह किया. मौके पर जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा, मुख्य सचिव दीपक कुमार, मुख्य मंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव मनीष कुमार वर्मा, सूचना एवं जन संर्क विभाग के सचिव अनुपम कुमार, विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह सहित जिलाधिकारी, एसएसपी बाबू राम, सिटी एसपी योगेंद्र कुमार, वायु सेना के अधिकारी, डीडीसी डॉ. कारी कारी प्रसाद महतो, एडीएम विभूति रंजन चौधरी, डीएलओ अजय कुमार, एनडीसी संस्कार रंजन एवं अन्य अधिकारी मौजूद थे.

बाद में हवाई अड्डा प्राधिकरण के डीजीएम ने बताया कि रनवे का 55 प्रतिशत निर्माण कार्य पूरा हो गया है. मुख्यमंत्री ने टैक्सी ट्रैक को चौड़ा करने एवं टर्मिनल भवन के निर्माण कार्य को भी तेजी से पूरा करने का निर्देश दिया. वहीं, टर्मिनल भवन को एनएच 527 बी से जोड़ने के लिए अलग रास्ता बनाने एवं इसके आगमन एवं निकास मार्ग गेट नंबर एक से करने का सुझाव दिया गया, ताकि एयरफोर्स एवं एयरपोर्ट का रास्ता अलग-अलग रहे. मुख्यमंत्री ने एयरफोर्स एवं एयरपोर्ट के रास्ते को अलग-अलग रखने की दोनों व्यवस्था के बीच एक पार्टीशन बनाने के लिए विचार करने को कहा.