ड्यूटी के साथ-साथ स्लम के बच्चों को पढ़ाने वाले चौकीदार सिंघम से डीजीपी बोले-शानदार

127

Patna: नाथनगर थाने के चौकीदार सचिन उर्फ सिंघम पासवान के ड्यूटी स्थल के पास पाठशाला लगाकर स्लम के बच्चों को पढ़ाने की डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने सराहना की है. उन्होंने पूरे मामले को जानने के लिए नाथनगर इंस्पेक्टर से फोन पर जानकारी ली. इसके बाद चौकीदार सिंघम से भी बात की. उन्होंने कहा, जैसा आपका नाम जानदार है, काम भी शानदार है. आप ड्यूटी के साथ बच्चों को पढ़ा रहे हैं. समाज हित में अच्छा काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा, पढ़ाई में कोई कमी हो या कोई जरूरत तो वे भी मदद करेेंगे.

उन्होंने बच्चों की कॉपियां, पेन और किताबों पर होने वाले खर्च देने की भी बात कही. इतना ही नहीं, उन्होंने यह भी कहा कि वे जल्द ही भागलपुर आएंगे और चौकीदार सिंघम की पाठशाला देखेंगे. मालूम हो कि सचिन की ड्यूटी लॉकडाउन में एसएस बालिका हाईस्कूल के पास रेलवे केबिन के पास लगी है. यहीं स्लम है. ड्यूटी के दौरान सिंघम और गरीब और बेसहारा बच्चों कचरा चुनते देखते थे. उन्हीं को सिंघम ने पढ़ाना शुरू किया.

बोले डीजीपी- शराब माफिया और बदमाशों को भी पकड़ें
डीजीपी पांडेय ने चौकीदार सिंघम से यह भी कहा कि ईमानदारी से ड्यूटी करते शराब माफिया और अन्य बदमाशों को भी पकड़ें. चौकीदार ने बताया कि डीजीपी की प्रशंसा ने उनमें नया उत्साह भर दिया है. उनकी यह मुहिम आगे भी जारी रहेगी.

चौकीदार ने कहा कि ऑनर्स की पढ़ाई कर रहा था. 2007 में पिता के स्वर्गवास के बाद पढ़ाई नहीं कर सका. परिवार की जिम्मेदारी आ पड़ी, पिता चौकीदार थे, उनकी जगह चौकीदारी मिली. पढ़ने-पढ़ाने की कसक थी, जो लॉकडाउन में बच्चों को पढ़ाकर पूरी कर रहा हूं. सड़कों पर सन्नाटा था. स्लम के बच्चों को कूड़ा चुनते देखा. एक बच्चे राजकुमार से पूछा तो बोला, पढ़ना चाहता हूं पर गरीबी है. तब से पढ़ा रहा हूं. अभी 12 बच्चे हैं.