अभी-अभी: नहीं रहे बिहार के पूर्व राज्यपाल लाल जी टंडन, 85 वर्ष की उम्र में नि’धन

170

Patna: मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का नि/धन हो गया है, उन्हें गंभीर हालत में वेंटिलेटर पर रखा गया था. इससे पहले लखनऊ के मेदांता हॉस्पीटल के डायरेक्टर ने उनकी स्थिति गभीर होने की पुष्टि की थी, जिस वजह से उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था.

उनके बेटे और उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री आशुतोष टंडन ने लालजी टंडन के नि/धन की पुष्टि करते हुए ट्विटर पर जानकारी दी. उन्होंने लिखा बाबूजी नहीं रहे’. राज्यपाल लालजी टंडन का 85 वर्ष की आयु में मंगलवार सुबह 5 बजकर 35 मिनट पर नि/धन हुआ है. उनके शव को लखनऊ में उनके निवास स्थान पर 10 से 12 बजे के बीच अंतिम दर्शनों के लिए रखा जाएगा. शाम 4.30 बजे गुलाला घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.

उन्हें 11 जून को सांस लेने में दिक्कत और बुखार के चलते अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था. जिसके बाद 13 जून को उनका ऑपरेशन किया गया, हालत गंभीर होने पर उन्हेंं वेंटिलेटर पर शिफ्ट किया गया था. लाल जी टंडन की तबीयत खराब होने की वजह से ही उत्तर प्रदेश की राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल को मध्‍य प्रदेश का अतिरिक्‍त कार्यभार सौंपा गया था. टंडन 10 दिन के अवकाश पर अपने घर लखनऊ गए हुए थे, जहां उनकी तबियत ख़राब हो गई, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज 11 बजे पूरे मंत्रिमंडल के साथ कैबिनेट बैठक में मध्य प्रदेश के राज्यपाल स्वर्गीय लालजी टंडन जी को श्रद्धा सुमन अर्पित करेंगे. मुख्यमंत्री आज लखनऊ स्व लाल जी टंडन को श्रद्धांजलि देने भी जाएंगे.

वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लाल जी टंडन के निशन पर शोक व्यक्त किया है. साथ ही यूपी में 3 दिन के राजकीय शोक की भी घोषणा की गई है. सीएम योगी ने लिखा- म.प्र. के मा. राज्यपाल श्री लालजी टंडन जी के नि/धन की खबर सुनकर शोक हुआ. उनके नि/धन से देश ने एक लोकप्रिय जननेता,योग्य प्रशासक एवं प्रखर समाज सेवी को खोया है. वे लखनऊ के प्राण थे, ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शान्ति हेतु प्रार्थना करता हूं. मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिजनों के साथ हैं.