लॉकडाउन की ऐसी-तैसी, बिहार सरकार की गाड़ी से हो रही है श’राब की होम डेलीवरी

240

PATNA : बिहार में अवैध श’राब के कारोबारी अब बिहार सरकार की गाडी से दा’रू की होम डेलीवरी कर रहे हैं. वैशाली के महुआ में इसका खुलासा हुआ है. बिहार सरकार का बोर्ड लगी स्कॉर्पियो में श’राब की सैकड़ों बोतल लदी थी. पुलिस हैरान है कि ऐसे कारनामों पर रोक कैसे लगायी जाये.

पुलिस सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक हाजीपुर से महुआ जाने वाले रोड पर कन्हौली के पास बिहार सरकार का वोर्ड लगी स्कॉर्पियो से बडी मात्रा में श’राब बरामद किया गया है. इस स्कॉर्पियों पर सवार एक धंधेबाज को भी गिरफ्तार कर लिया गया है. महुआ थाने की पुलिस गिरफ्तार व्यक्ति से पूछताछ कर ये जानने में लगी है कि बिहार सरकार की गाड़ी से श’राब की तस्करी कैसे की जा रही थी.

दरअसल महुआ थाने को ये सूचना मिली थी कि बिहार सरकार लिखी स्कॉर्पियो गाड़ी से श’राब की होम डिलीवरी की जा रही है. खबर देने वाले ने ये भी बताया था कि ये गाड़ी हाजीपुर से महुआ की ओर रवाना हुई है. इसके बाद महुआ थाना पुलिस ने सड़क पर चेकिंग शुरू की. हाजीपुर के तरफ से बिहार सरकार का बोर्ड लगे स्कॉर्पियों को पुलिस ने आते देखा तो उसे कन्हौली लाइन होटल के निकट रोकने की कोशिश की गयी.

पुलिस के मुताबिक जब गाड़ी को रूकने का इशारा किया गया तो ड्राइवर ने गाड़ी भगाने की कोशिश की. लेकिन पुलिस ने पीछा कर गाडी को पकड़ लिया. स्कॉर्पियो की जांच हुई तो उसमें श’राब की सैकडो बोतल लदी हुई मिली. स्कॉर्पियों पर सवार एक व्यक्ति भी पकडा गया. पुलिस उसे श’राब कारोबारी बता रही है. महुआ थानाध्यक्ष कृष्णा नंद झा ने बताया कि गिरफ्तार श’राब के धंधेबाज हाजीपुर के गंगाब्रिज थाना के नवादा गांव का रहने वाला रामवृक्ष साह का बेटा विजय कुमार बताया गया है.

महुआ पुलिस के मुताबिक स्कॉर्पियो गाड़ी से लगभग 175 लीटर श’राब बरामद की गयी है. पुलिस ये पता लगाने में लगी है कि आखिरकार कैसे बिहार सरकार के बोर्ड लगे गाड़ी से श’राब का कारोबार किया जा रहा था. क्या स्कॉर्पियों का संबंध वाकई किसी सरकारी अधिकारी-कर्मचारी से है या धंधेबाजों ने पुलिस से बचने के लिए फर्जी तरीके से बोर्ड लगा रखा था.