पटना के पंजाब नेशनल बैंक में हुई ऐसी लूट, जिसने पुलिस महकमे में मचा दी हड़कंप

230

Patna: बेउर मोड़ स्थित पंजाब नेशनल बैंक में लूट के दौरान जिस डीवीआर को डकैतों ने पहचान होने की वजह से पटक दिया उसमें हार्ड डिस्क था. हार्ड डिस्क काे निकाला गया और फिर दूसरा डीवीआर लाकर फुटेज देखा गया. सूत्रों के अनुसार लुटेरों ने 2 मिनट में ही रकम लूट ली. दो-तीन लुटेरे कैश सेफ से दोनों हाथ से रकम निकालते दिखे और उसे स्कूल के बैग और झोले में रख लिया.

इससे पहले बैंक मैनेजर को लुटेरों ने कहा था कि बताओ कहां कैश सेफ है जहां रकम रखी हुई है. जल्दी बताओं, नहीं तो गोली मार देंगे. जहां पर बैंक की डकैती हुई है, उसी से करीब 300 मीटर दूर अनीसाबाद माेड़ के पास रघुनाथटाेला में थाेक किराना दुकानदार के यहां दाे साल पहले डकैती हुई थी.

टाइम लाइन

3:25 बजे – बैंक में अपराधी घुसे
3:35 बजे- लुटेरे रकम लेकर फरार
3:45 बजे- बेउर थानेदार पहुंचे
4.00 बजे- फुलवारीशरीफ डीएसपी पहुंचे
4:10 बजे- एसएसपी पहुुंचे
5.00 अाईजी पहुंचे
5:40 बजे- एफएसएल टीम पहुंची
5.50 बजे- सिटी एसपी वेस्ट पहुंचे
एक साल पहले पंचवटी रत्नालय में डाला था डाका

लूट में कुख्यात रवि पेशेंट उर्फ रवि गुप्ता उर्फ नेताजी अाैर उसके गिराेह के शामिल हाेने की बात सामने आ रही है. एक साल पहले 21 जून काे रवि के गिराेह ने दीघा-आशियाना राेड पर पंचवटी रत्नालय से 5 कराेड़ का गहना और 13 लाख कैश लूट लिया था. सूत्राें के अनुसार पिछले साल भी वह हेलमेट पहनकर ज्वेलरी शाॅप में घुसा था. बैंक में भी हेलमेट पहने एक लुटेरा था जाे रवि बताया जा रहा है. कद और काठी उसी का है.

पंचवटी रत्नालय में घटना के बाद पुलिस ने इसे 30 जून काे धनबाद से गिरफ्तार किया था. 2 जुलाई काे इसे बेउर जेल भेजा गया था पर पिछले साल 18 दिसंबर काे जब रवि प्राे. पापिया घाेष के आवास में हुई डकैती और फिर उनकी हत्या करने में बंदी आशीष राय के साथ बेउर जेल से सिविल काेर्ट में पेशी के लिए आया ताे दाेनाें सुरक्षाकर्मियाें काे मारपीट कर फरार हाे गए थे.

उसके बाद से दाेनाें पुलिस की गिरफ्त में नहीं आए. बैंक में डकैती करने से पहले लुटेराें ने वहां की रेकी की थी. सारी तैयारी कर लुटेरे बैंक पहुंचे थे. उन्हें पता था कि बैंक में गार्ड बिना हथियार का रहता है. सूत्राें के अनुसार साेमवार काे लुटेराें ने इसलिए बैंक में डकैती किया कि उन्हें पता था कि सप्ताह के पहले दिन बैंक में ज्यादा रकम हाेगी.

3 साल पहले बेलछी में हुई थी 60 लाख रुपए की लूट

पटना जिले में इससे पहले बड़ी घटना तीन साल पहले 6 मार्च 2017 काे बाढ़ के बेलछी के बाघाटीला में पीएनबी में हुई थी. उस दिन लुटेराें ने कैश वैन के दाे गार्ड व चालक की गाेली मारकर हत्या कर दी थी. फिर बैंक में कैशवैन से रकम ले जाने के दाैरान 60 लाख रुपए लूट लिए थे. इससे दाे साल पहले पटना से कैश वैन से एक कराेड़ रुपए जमुई जा रहा था. इसी दाैरान बाेलेराे सवार लुटेराें ने गाेलीबारी कर एक कराेड़ लूट लिए थे. 31 दिसंबर 2019 काे पटना जंक्शन के पास यूनाइटेड बैंक अाॅफ इंडिया से 9.12 लाख की लूट हुई थी. 28 जून 2018 काे रूपसपुर के विजया बैंक में 3 लाख की लूट हुई थी. मई 2018 में धनरूअा के माेरहर पुल के पास लुटेरे 11 लाख लूट लिए थे.