No man’s land के पास नेपाल पुलिस ने लगाया चीनी भाषा में लिखा टेंट

165

Patna: मंगलवार को नेपाल प्रहरी के जवानों ने पश्चिम चम्पारण में भारत- नेपाल बॉर्डर के नो मेंस लैंड के बगल में ड्यूटी के लिए जो टेंट लगाया वह भारतीय क्षेत्र से सटे गांव के लोगों में चर्चा का विषय बन गया. ग्रामीणों ने बताया कि भारतीय क्षेत्र के इनरवा, नगरदेही, भंगहा के सामने नो मेंस लैंड के बगल में नेपाल प्रहरी ने जो टेंट लगाया गया था उस पर चीनी भाषा में कुछ लिखा हुआ था. यह देखकर आसपास के गांवों के कई लोग टेंट देखने बॉर्डर के पास पहुंचने लगे. इसपर नेपाल प्रहरी ने तत्काल उस टेंट को हटा लिया. इधर, लोग यह जानने की कोशिश कर रहे थे कि आखिर नेपाली प्रहरी के टेंट पर क्या लिखा है.

हालांकि इस बारे में पूछने पर स्थानीय एसएसबी के अधिकारियों या जवानों ने कुछ भी कहने से परहेज किया. वहीं मैनाटांड़ प्रखंड के अधिकारी भी कुछ भी कहने से बचते रहे. बताते हैं कि भारत-नेपाल सीमा का यह हिस्सा पूर्वी चम्पारण के पीपराकोठी स्थिति एसएसबी मुख्यालय के क्षेत्र में पड़ता है. मालूम हो कि पिछले दिनों सीतामढ़ी में नेपाल पुलिस की फायरिंग, भिखनाठोरी में नाले के पानी को लेकर विवाद के बाद बॉर्डर पर तनाव बढ़ा हुआ है.

इधर, एसएसबी 47 बटालियन के कमांडेंट प्रियवत शर्मा ने बताया कि नेपाल एपीएफ के ज्यादातर टेंट चीन द्वारा निर्मित होते है. इसी वजह से एपीएफ के पोस्ट पर लगे टेंट पर सामान्यत: चाइनीज भाषा में कुछ न कुछ लिखा होता है.