बिहार में होने वाले पंचायत चुनाव में किया गया है ये बदलाव

83

Desk: बिहार में अभी तक पंचायत चुनाव (Panchayat elections in Bihar) बैलेट पेपर से होते रहे हैं. लेकिन, 2021 के मार्च से मई के बीच प्रस्तावित पंचायत इलेक्शन ईवीएम (EVM) से कराए जाएंगे. सूत्रों के हवाले से बड़ी खबर ये है कि पंचायत चुनाव के लिए ईवीएम की खरीद के लिए उच्चस्तरीय स्वीकृति मिल गई है.

मिली जानकारी के अनुसार, राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा पंचायत चुनाव कराए जाने और उस पर होने वाले करीब 450 करोड़ के बजट के प्रस्ताव पर जल्द स्वीकृति मिल जाएगी. बता दें कि आयोग द्वारा पंचायत चुनाव को लेकर करीब 300 करोड़ का बजट प्रस्ताव सरकार को भेजा गया था. माना जा रहा है कि इनमें 125 करोड़ की लागत से पंचायत चुनाव के लिए मल्टीपोस्ट ईवीएम (Multipost EVM) खरीदे जाएंगे.

राज्य निर्वाचन आयोग से मिली जानकारी के अनुसार, अधिकतम 9 चरणों में पंचायत चुनाव की तैयारी की जा रही है. जिला परिषद, पंचायत समिति सदस्य, ग्राम पंचायत मुखिया, ग्राम कचहरी सरपंच, ग्राम पंचायत सदस्य और ग्राम कचहरी पंच के करीब 2 लाख 58 हजार पदों पर मार्च से मई के बीच चुनाव होना है.

पंचायत चुनाव के लिए खास तरह की ईवीएम की खरीद की जानी है. इनमें एक कंट्रोल यूनिट (सीयू) के साथ आठ बैलेट यूनिट (बीयू) का प्रयोग किया जा सकता है. यानी एक साथ छह वोट दिए जा सकते हैं. बता दें कि पंचायत आम चुनाव में एक साथ छह पदों के लिए ही एक साथ मतदान कराया जाता है.

इस खास तरह की ईवीएम में एक डिटेचेबल मेमोरी कार्ड (एबीएमएम) होता है और उसको हटाया जा सकता है. उस कार्ड को हटाकर दूसरे कार्ड का भी प्रयोग किया जा सकता है. इस तरह की ईवीएम को स्ट्रांग रूम में रखने की जरूरत नहीं होगी. इस ईवीएम का प्रयोग पहले चरण के मतदान के बाद फिर से तीसरे चरण का मतदान में किया जा सकता है.