PMCH के कोरोना संक्रमित डॉक्टर की मौत, पटना एम्स में चल रहा था इलाज

182

Patna: राजधानी पटना से एक बड़ी खबर आ रही है, जहां पीएमसीएच के डॉक्टर की कोरोना से इलाज के दौरान पटना एम्स में मौत हो गई है। पीमसीएच के ईएनटी विभाग में पदस्थापित डॉक्टर एन के सिंह कुछ दिन पहले कोरोना से संक्रमित पाए गए थे। जिसके बाद उन्हें आइसोलेट कर दिया गया था। एन के सिंह की हालत बिगड़ने के बाद डॉक्टरों ने पटना एम्स रेफर कर दिया और वहां उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। 

गया के डॉक्टर समेत तीन की कोरोना से मौत
पटना एम्स में सोमवार को गया के डॉक्टर समेत तीन कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई। वहीं आइसोलेशन वार्ड में भर्ती एक संदिग्ध ने भी दम तोड़ दिया। पटना एम्स के नोडल पदाधिकारी डॉ. संजीव कुमार ने बताया कि गया निवासी डॉक्टर डॉ. अश्विनी कुमार (59) वहां के कोतवाली थाने के रामानंदपुर के रहने वाले थे। गया में निजी प्रैक्टिस करते थे। बीमार पड़ने पर दो जुलाई को पटना एम्स में भर्ती करो गए थे। उनकी स्थिति काफी गंभीर थी। उनके अलावा खगड़िया जिले के बेलदौर निवासी उदय कुमार भागवत (65) और सारण के राउजा निवासी अवधेश मिश्रा (61) की मौत हो गई है। वहीं, आइसोलेशन वार्ड में संदिग्ध के रूप में भर्ती महिला शकुंतला देवी (55) ने दम तोड़ दिया। हालांकि शव का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया है। उधर, सोमवार को 162 लोगों का फ्लू जांच हुआ, जिनमें 45 पॉजिटिव पाए गए हैं। 41 संदिग्धों के सैम्पल जांच के लिए भेजे गए हैं।

पटना के 19 समेत 26 एम्स से डिस्चार्ज
पटना एम्स में इलाजरत 26 लोगों ने कोरोना पर विजय हासिल की है। जिन 26 लोगों को डिस्चार्ज किया गया है, उनमें 19 लोग पटना के हैं। पटना के कोरोना को मात देने वालों में श्रीकृष्णापुरी बोरिंग रोड के सात, नौबतपुर के दो, प्रकाश नगर के एक, लोहिया नगर कंकड़बाग के दो, एएन कॉलेज बोरिंग रोड के एक, सदल्लीचक पटना के एक, खाजेकलां के एक, दुल्हिनबाजार के एक, चांदपुर बेला जीपीओ के एक, राजीव नगर के एक, आशोक राजपथ के एक शामिल हैं।