जानें कौन है ये शख्स जिसे पकड़ने के लिए पुलिस ने 50 घंटे में 5 गुना बढ़ा दी इनामी राशि

76

Patna:कानपुर शूटआउट का आरोपी विकास दुबे को पकड़ने की कोशिश जारी है. अभी तक पुलिस के हाथ खाली हैं. उत्तर प्रदेश पुलिस ने विकास दुबे पर घोषित इनाम को ढाई गुना बढ़ा दिया है. अब विकास दुबे के बारे में खबर देने वाले को ढाई लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा.

कानपुर के चौबेपुर में सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मुख्य आरोपित विकास दुबे के बिजनौर में होने की सूचना पर पुलिस हाई अलर्ट पर है. उत्तर प्रदेश पुलिस ने विकास दुबे पर घोषित इनाम को ढाई गुना बढ़ा दिया है. अब विकास दुबे के बारे में खबर देने वाले को ढाई लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा. जिस वक्त शूटआउट हुआ, उस समय विकास दुबे पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित था. ढाई लाख के इनामी हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के बिजनौर में स्कॉर्पियो गाड़ी में होने की सूचना पर गाडिय़ों की चेक सख्ती से कराने के साथ उच्च अधिकारियों को सूचित किया गया है.

पांच दिन से फरार चल रहे दुर्दांत अपराधी विकास दुबे के बिजनौर के हल्दौर क्षेत्र में स्कॉर्पियो गाड़ी में घूमने की सूचना पर जिलेभर में घेराबंदी कर दी गई. यहां पर कंट्रोल रूम पर मिली सूचना के बाद पूरे जिले के अधिकारी और फोर्स सड़कों पर उतर गया. जिले की सीमाएं सील कर दी गई. डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने कानपुर शूटआउट के मुख्य आरोपी विकास दुबे पर ढाई लाख रुपये का इनाम घोषित किया है. सबसे पहले विकास दुबे पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित था, जिसे एक लाख रुपया किया गया था. आईजी ने इनाम को ढाई लाख रुपये करने के लिए डीजीपी को खत लिखा था.

डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने आईजी के पत्र पर सहमति जताते हुए विकास दुबे पर ढाई लाख रुपये का ईनाम घोषित किया है. विकास दुबे के बारे में कोई सूचना देता है तो उसे ईनाम दिया जाएगा. साथ ही उसका नाम और पता गुप्त रखा जाएगा. इस बीच पुलिस ने उन्नाव टोल प्लाजा पर विकास दुबे के पोस्टर लगा दिए हैं.

कानपुर के चौबेपुर क्षेत्र में स्थित बिकरू गांव में गुरुवार रात कुख्यात अपराधी विकास दुबे और उसके साथियों द्वारा 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद पूरी उत्तर प्रदेश की पुलिस उसकी तलाश में है. इसी क्रम में मिश्रिख इलाके के नैमिष में रविवार को चेकिंग के दौरान पुलिस ने दो लग्जरी गाड़ियों से 9 असलहे और 150 कारतूस बरामद किया. असलहों में 6 रायफल, एक बंदूक और दो पिस्टल हैं। दोनों गाड़ियों से 13 लोग हिरासत में लिए गए. सूत्रों के अनुसार इनमें विकास दुबे का रिश्तेदार अनुपम दुबे और उसके दोस्त हैं. उसके खिलाफ फर्रूखाबाद जिले समेत कई थानों में 30 संगीन मामले दर्ज हैं. इनमें हत्या तक के केस भी हैं.

विकास दुबे पर धारा 192 220 धारा 147 148 149 302 307 394 सहित कई अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज है. उसकी तलाश के लिए पुलिस ने 40 टीमें गठित की है, जो आस-पास के जिलों के अलावा सर्विलांस टीम से मिल रही जानकारी के आधार पर छापेमारी कर रही हैं. इस बीच विकास दुबे के करीबी दयाशंकर अग्निहोत्री के खुलासे के बाद चौबेपुर थाने के तीन पुलिकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है. इसमें दो दारोगा और एक सिपाही शामिल है. इन तीनों पुलिसकर्मियों पर विकास दुबे के संपर्क में रहने का आरोप लगा है.