बेगूसराय में गंगा नदी पर बनेगा मटिहानी-शाम्हो पुल, केंद्र को प्रस्ताव मंजूर

80

Patna: केंद्र सरकार ने बेगूसराय (Begusarai) के मटिहानी और शाम्हो के बीच गंगा (Ganga) नदी पर पुल बनाने को मंजूरी दे दी है. इस पुल के निर्माण को लेकर सिद्धांत: सहमति जताते हुए केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने पत्र लिखकर बीजेपी सांसद राकेश सिन्हा (Rakesh Sinha) को इस बात की जानकारी दी.

तो वहीं इस संबंध में बीजेपी सांसद राकेश सिन्हा ने बताया कि उनकी तरफ से इस पुल के निर्माण को लेकर लगातार केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और उनके मंत्रालय के अधिकारियों के साथ संपर्क किया जा रहा था.

इसके लिए उन्होंने पत्र भी लिखा था. लेकिन, प्रस्तावित मटिहानी-शाम्हो पुल के एक तरफ 35 किलोमीटर की दूरी पर मोकामा में एनएच-31 और दूसरी तरफ 25 किलोमीटर की दूरी पर मुंगेर में एनएच-80 पर पुल का निर्माण होने के करण तकनीकी समस्या आ रही थी. तकनीकी समस्या यह थी कि पहले से मौजूद पुल से 50 किलोमीटर के दायरे में दूसरे पुल का निर्माण संभव नहीं है. लेकिन, इन इस तकनीकी समस्या का निदान कर एनएचएआई की तरफ से इस पर सहमति दी गई है, जिसके बाद मंत्रालय ने पुल निर्माण को मंजूरी दी है.

इस पुल के निर्माण से संबंधित रिपोर्ट इस साल दिसंबर तक हो जाएगी. इसके बाद डीपीआर और टेंडर की प्रक्रिया के बाद पुल निर्माण की प्रक्रिया शुरू की जाएगी. उन्होंने बताया कि यह धारणा बन गई थी कि इस पुल का निर्माण असंभव है. लेकिन, लोगों के संघर्ष का ही परिणाम है कि इस तरह पुल निर्माण को मंजूरी मिली है. राकेश सिन्हा ने इसे प्रधानमंत्री के सबका साथ, सबका विकास के नारे को चरितार्थ करने वाला कदम बताया.

उन्होंने बताया कि इस पुल के निर्माण के बाद झारखंड, ओडिशा और पश्चिम बंगाल से उत्तर बिहार की दूरी लगभग 76 किलोमीटर कम हो जाएगी और इस क्षेत्र के किसानों को भी काफी फायदा मिलेगा. पुल निर्माण के बाद 2 लाख से अधिक किसान अपने डेयरी और दूसरे उत्पाद को भी बाजार ले जाकर बेच सकते हैं.राकेश सिन्हा ने कहा कि बेगूसराय में बरौनी औद्योगिक नगरी के रूप में उभर कर सामने आए, यही हमारी कामना है. अब रांची जाने में 2 घंटे बचेगा, जबकि, मुंगेर-भागलपुर जैसे नजदीक के शहरों की दूरी भी बहुत कम हो जाएगी.