मानसून आ गया पर पटना में न 27 अस्थायी संप हाउस तैयार हो सके न पंप आए

142

Patna: राजधानी में जहां मुख्य नाला ऊंचा होने या नाला निर्माण नहीं होने के कारण जलजमाव की समस्या पैदा होती है, वैसे 27 स्थानों को चिह्नित कर वहां पर अस्थायी संप हाउस बनाया जा रहा है. इनका निर्माण कार्य जून की शुरुआत तक पूरी करने लेने का दावा किया गया था. लेकिन, लॉकडाउन की वजह से काम में देरी होने की बात कही जा रही है. सरकार के स्तर पर हुई बैठक में बुडको के एमडी रमन कुमार ने अस्थायी संप हाउस के निर्माण कार्य को 15 जून तक हर हाल में पूरा करने का दावा किया था. लेकिन, यह दावा फेल हाे गया.

इन अस्थायी संप हाउस में लगने वाले पंप की अभी तक आपूर्ति नहीं हो पाई है. बुडको की ओर से जाे करार किया गया, उसके तहत जुलाई के पहले सप्ताह तक पंप पटना पहुंचने की बात कही जा रही है. बुडको के पीआरओ चंद्रभूषण कुमार ने कहा कि बारिश को देखते हुए निजी एजेंसियों से पंप की आपूर्ति कराने का निर्णय लिया गया है. इसके लिए निविदा मंगाई गई है. 25 जून तक इस निविदा के आधार पर कार्य पूरा कर लिया जाएगा. इसी माह में अस्थायी संप हाउस भी बनकर तैयार हो जाएंगे. पंपों की आपूर्ति होने के बाद उसकी फिटिंग में जब तक समय लगेगा, तब तक किराए पर लिए गए पंप से जलनिकासी का कार्य कराया जाएगा.

आर ब्लॉक-दीघा सिक्स लेन हाइवे के दक्षिण सर्विस रोड का निर्माण कार्य पूरा नहीं हुआ है. ऐसे में शिवपुरी, महेशनगर, इंद्रपुरी मुहल्ले के लोग जलजमाव की अाशंका से डरे हैं. पुनाईचक संप हाउस और पटेल नगर नाला का निर्माण कार्य अभी पूरा नहीं हुआ है. पानी टंकी के पास सिक्स लेन हाइवे को पटेल नगर नाला और पुनाईचक के पास हाइवे को संप हाउस पार कर रहा है. इन दोनों का निर्माण कार्य पूरा नहीं होने से भारी बारिश के दौरान जलजमाव होने की अाशंका बनी है. इस संबंध में पूछे जाने पर निर्माण एजेंसी के पदाधिकारियों ने कहा कि लॉकडाउन के कारण निर्माण कार्य बंद होने से प्रभाव पड़ा है. कार्य शेष पूरा करने के लिए कार्य चल रहा है.

मानसून को देखते हुए नगर निगम के कंट्रोल रूम सह कॉम्बैट सेल को 24 घंटे चालू रखने का निर्णय लिया गया है. लोग इस सेल में जलजमाव व सफाई से संबंधित समस्याओं के लिए संपर्क कर सकते हैं. नगर आयुक्त हिमांशु शर्मा ने पिछले दिनों कॉम्बैट सेल में 60 हंटिंग लाइन लगाने का निर्देश दिया था.

मानसून की पहली ही बारिश में राजेंद्रनगर रोड नंबर एक और दो में जलजमाव हाेने पर वार्ड 43 के प्रभारी सफाई निरीक्षक दीपक कुमार को निलंबित कर दिया गया है. दरअसल, नगर आयुक्त हिमांशु शर्मा ने बारिश के बाद गुरुवार की रात करीब 1:30 बजे इलाके का जायजा लिया. इस दौरान मैकडोवेल गोलंबर और राजेंद्रनगर रोड नंबर एक व दो में जलजमाव देखा. उन्होंने दीपक को तलब किया, लेकिन वे गायब पाए गए. उनका फोन बंद बताता रहा. उनकी लापरवाही के कारण लोगों को 10-12 घंटे तक जलजमाव का सामना करना पड़ा. इसे अनुशासनहीन बताते हुए नगर आयुक्त ने उन्हें तत्काल निलंबित करने का आदेश दिया है. साथ ही नगर आयुक्त ने बांकीपुर अंचल के कार्यपालक पदाधिकारी को प्रभारी सफाई निरीक्षक के खिलाफ एक सप्ताह में प्रपत्र क गठित करने का भी निर्देश दिया है.