रघुवंश सिंह की रिपोर्ट निगेटिव, निमोनिया का चलेगा इलाज; पुतुल कुमारी भी स्‍वस्‍थ

157

Patna:बिहार में कोरोना संक्रमित राजद के वरीय नेता रघुवंश प्रसाद सिंह और बांका की पूर्व सांसद पुतुल कुमारी के लिए राहत भरी खबर है. दोनों कोरोना वायरस के संक्रमण से मुक्‍त हो गए हैं. हालांकि, दरभंगा स्थित जाले विधायक जीवेश मिश्रा अभी पूरी तरह स्‍वस्‍थ नहीं हुए हैं. वे भी पिछले सप्‍ताह कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं. जबकि पटना सिटी में जदयू के युवा नेता सुनील कुमार की कोरोना से गुरुवार को मौत हो गई.

राजद के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने एम्स पटना में 10 दिनों के इलाज के बाद कोरोना से जंग जीत ली है. नोडल अधिकारी डॉ. संजीव कुमार ने बताया कि रघुवंश प्रसाद सिंह की सुधरती हालत को देखकर बुधवार को सैंपल दोबारा जांच के लिए भेजा गया. गुरुवार की रात आई रिपोर्ट में वे निगेटिव मिले. फिलहाल रघुवंश प्रसाद सिंह निमोनिया से ग्रसित हैं. 16 जून को भर्ती हुए थे जहां कोरोना जांच में वे संक्रमित मिले थे. कई बार हालत बिगडऩे पर उन्हें ऑक्सीजन पर रखा गया था. अब उनका निमोनिया का इलाज एम्स में चलेगा. वे कोरोना वार्ड में भर्ती हैं. शुक्रवार को दूसरे वार्ड में शिफ्ट करने का निर्णय लिया जाएगा.

पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. दिग्विजय सिंह की पत्नी और बांका की पूर्व सांसद पुतुल कुमारी कोरोना वायरस के संक्रमण से मुक्त हो गई. वे दिल्ली एम्स के ट्रामा सेंटर में 16 जून को भर्ती हुई थी. वह लगातार कई दिनों तक अपनी बीमारी को लेकर परेशान रहीं, लेकिन अच्छे इलाज और योगाभ्यास के चलते सेहत सुधार कर वापस लौट आई. इस खबर को लेकर बांका की आम जनता में खुशी की लहर दौड़ गई. पारिवारिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उनकी छोटी लड़की श्रेयसी सिंह ने अपनी मां की बेहतर तरीके से देखभाल की. इसको लेकर डॉक्टर भी हैरान हुए.

कोरोना अस्पताल एनएमसीएच में 19 जून को भर्ती कराए गए कोरोना संक्रमित जदयू के युवा नेता सह स्वर्ण व्यवसायी सुनील गुप्ता की गुरुवार को इलाज के दौरान मौत हो गई. वे 50 वर्ष के थे. मूलरूप से फतुहा निवासी सुनील गुप्ता पटना के गांधी मैदान के समीप रहते थे. एनएमसीएच अधीक्षक डॉ. निर्मल कुमार सिन्हा ने बताया कि छह दिनों से उन्हें बुखार आ रहा था. गंभीर हालत में भर्ती हुए थे. लगातार ऑक्सीजन दी जा रही थी. फेफड़े में इंफेक्शन के कारण इनका सीटी स्कैन कराया गया था.