रघुवंश प्रसाद को लेकर शुरू हो गई सियासत, मांझी बोले- बेटों के लिए लालू ने चढ़ा दी बलि

276

Patna:बिहार के कद्दावर समाजवादी नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह (Raghuvansh Prasad Singh Death) का रविवार को दिल्‍ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (Delhi AIIMS) में निधन हो गया। मौत से तीन दिन पहले ही उन्‍होंने राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) से इस्‍तीफा दे दिया था। अब उनकी मौत व आरजेडी से मोह भंग को लेकर राजनीति शुरू हो गई है। इसकी शुरुआत पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) ने कर दी है। उन्‍होंने रघुवंश प्रसाद सिंह की मौत के लिए सीधे लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) और उनके परिवार (Lalu Family) को जिम्‍मेदार बताया है। कहा है कि बटों को स्‍थापित करने के लिए लालू ने रघुवंश की बलि ले ली।

बेटों को स्थापित करने के लिए वरिष्ठ नेताओं की बलि चढ़ा रहे लालू

जीतनराम मांझी ने रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन पर शोक प्रकट करे हुए यह भी कहा कि रघुवंश प्रसाद सिंह के इस हालत के लिए लालू परिवार जिम्‍मेदार है। लालू प्रसाद यादव अपने बेटों तेजस्वी यादव (Tehashwi Yadav) तथा तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) को स्थापित करने के लिए आरजेडी के वरिष्ठ नेताओं की बलि चढ़ा रहे हैं। लालू के बेटे तेज प्रताप यादव ने 32 सालों से आरजेडी के साथ रहे ऐसे तपस्वी और समाजसेवी के लिए उनके अंतिम समय में कहा कि समंदर से एक लोटा पानी बाहर चला जाए ते क्या होगा? बकौल मांझी, इस बात से रघंवुश प्रसाद सिंह को काफी चोट पहुंची होगी। इससे वे उबर नहीं सके। जीतन राम मांझी ने आगे आरोप लगाया कि रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन के लिए लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार के लोग जिम्‍मेदार हैं।