पिता लालू से मिलने रांची पहुंचे तेजस्‍वी, जानें क्यों खास थी ये मुलाकात

74

Desk: राजद नेता तेजस्‍वी यादव अब से कुछ देर बाद अपने पिता लालू प्रसाद यादव से रांची के रिम्‍स में मुलाकात करेंगे। वे बिहार चुनाव 2020 के बाद पहली बार लालू से मिलने आए हैं। माना जा रहा है कि विधानसभा चुनाव के बाद वे बिहार में आगे की सियासत पर चर्चा कर सकते हैं। चारा घोटाले के चार मामलों में जेल की सजा काट रहे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बेटे राजद नेता तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) उनसे मुलाकात करने शुक्रवार को रांची पहुंचे। वे यहां रेडिशन ब्‍लू होटल में ठहरे हैं। वे आज अपने पिता से मिलेंगे। शनिवार को लालू से मुलाकातियों का दिन होता है।

इस दिन तीन लोगों को लालू प्रसाद यादव से मिलने की इजाजत दी जाती है। तेजस्‍वी यादव बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के बाद पहली बार अपने पिता से मिलने पहुंचे हैं। इस बार बिहार चुनाव में राजद-कांग्रेस महागठबंधन ने एनडीए को कड़ी टक्‍कर दी है। महागठबंधन को इस चुनाव में 110 सीटें हासिल हुई। एनडीए ने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की अगुआई में 125 सीटें जीतकर बिहार में अपनी सरकार बनाई है।

तेजस्वी पहुंचे रांची, आज करेंगे लालू से मुलाकात

बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष राजद नेता तेजस्वी यादव शुक्रवार की शाम रांची पहुंचे। बिहार विधानसभा चुनाव के बाद पहली बार रांची पहुंचे तेजस्वी रिम्स में इलाजरत अपने पिता लालू प्रसाद से शनिवार को मुलाकात करेंगे। शुक्रवार को होटल रेडीशन ब्लू में राजद पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने उनसे मुलाकात की और उन्हेें बिहार चुनाव में राजद की अगुआई में पार्टी के अच्छे प्रदर्शन की बधाई दी।

2020 में तीसरी बार तेजेस्वी पहुंचे पिता लालू प्रसाद से मिलने

रिम्स के पेइंग वार्ड में इलाजरत चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता राजद प्रमुख लालू प्रसाद से मिलने शुक्रवार को उन्हें छोटे बेटे और बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजेस्वी यादव रांची पहुंचे है। आज करीब 11 बजे वे रिम्स के पेइंग वार्ड में इलाजरत अपने पिता लालू प्रसाद यादव से मुलाकात करेंगे। इस साल का यह तीसरी बार होगा जब तेजेस्वी पिता से मिलने रांची पहुंचे है।

12 फरवरी और 11 जून को तेजेस्वी ने की थी लालू प्रसाद से मुलाकात

इससे पहले तेजेस्वी यादव ने 12 फरवरी और 11 जून को पिता से मुलाकात की थी। 11 जून को उन्होंने अपने पिता का जन्मदिन भी पेइंग वार्ड में केक काटकर मनाया था। हालांकि लालू प्रसाद जितने भी दिन बंगले में रहे तेजेस्वी बिहार चुनाव में व्यस्त होने के कारण उनसे मिलने नहीं आ सके। आज पिता से मुलाकात के दौरान दोनों के बीच घंटो राजनीतिक बातचीत हो सकती है।

नेता प्रतिपक्ष बनने के बाद पहली बार आज करेंगे मुलाकात

सूत्रों की मानें तो बिहार चुनाव में अपने छोटे बेटे के प्रदर्शन से लालू प्रसाद काफी खुश थे। चुनाव के बाद राजद की सरकार नहीं बनने से दुखी लालू प्रसाद ने सरकार गिराने की कवायद भी शुरू कर दी थी, रिम्स से ही दूसरे पार्टी के विधायकों को मंत्री मंडल में जगह देने के वादे किए जा रहे थे। इसी बीच करीब 20 दिन पूर्व बिहार से एक ऑडियो वायरल हुई थी, जिसमें लालू प्रसाद बिहार में सरकार गिराने की बात कर रहे थे। हालांकि अब तक ऐसा हो नहीं सका और रिम्स की सुरक्षा भी कड़ी कर दी गई। उन्हें बंगले से निकालकर वापस पेइंग वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया।