रघुवंश बाबू की चिट्ठी पर उठाए सवाल, BJP बोली- अनपढ़ और गंवारों की पार्टी है राजद

570

Patna: बिहार के कद्दावर और समाजवादी नेता रघुवंश प्रसाद सिंह की मौत के बाद राजनीति का दौर लगातार जारी है. रघुवंश बाबू की मौत के बाद श्रद्धांजलि देते ही अब आरजेडी के नेता खुलेआम उनके द्वारा लिखी गई चिट्ठी पर सवाल खड़े कर रहे हैं. दरअसल, मौत से पहले रघुवंश प्रसाद सिंह ने सीएम नीतीश कुमार के नाम से कई चिट्ठियां लिखी थीं, लेकिन राजद का आरोप है कि यह चिट्ठियां और इनकी टाइमिंग अपने आप में संदेहास्पद हैं.

राजद के विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा है कि रघुवंश सिंह के पत्र में सरकार ने साजिश की है. कोई भी व्यक्ति आईसीयू से पत्र नहीं लिख सकता है. उन्हीं के पार्टी के एक और एमएलसी सुबोध यादव ने पूछा है कि भला आईसीयू में भर्ती इंसान चिट्ठी कैसे लिख सकता है. सुबोध ने कहा कि कोविड के बाद रघुवंश बाबु से मेरी मुलाकात हुई थी. उन्होंने कहा था कि आरजेडी छोड़ने का सवाल ही नहीं है, बावजूद इसके ऐसी चिट्ठी पर सवाल खड़ा होता है. सरकार चिट्ठी पर सियासत कर रही है.

आरजेडी के इन आरोपों पर एनडीए के नेताओं ने सवाल खड़े किए हैं. बीजेपी ने आरजेडी के बयान पर हमला बोलते हुए कहा कि आरजेडी अनपढ़ और गवारों की जमात है. पार्टी के प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा कि जिंदा रहते रघुवंश प्रसाद को लोटा भर पानी बताया और आज उनके जैसे विद्वान व्यक्ति की लेखनी पर सवाल खड़े कर रहे हैं. रघूवंश बाबू की आह से आरजेडी बर्बाद हो जाएगा.

बिहार सरकार के मंत्री और जदयू नेता नीरज कुमार ने भी इस मामले को लेकर आरजेडी पर हमला बोला है. नीरज ने कहा कि ऐसे बयान देते हुए भी राजद के नेताओं को शर्म आनी चाहिये. आरजेडी नेताओं ने जीते जी उनका ख्याल नहीं रखा. अब उनके निधन के बाद ऐसे सवाल उठाकर और छोटा कर रहे हैं.