बिहार विधान परिषद चुनाव में कांग्रेस के इकलौते प्रत्याशी समीर सिंह को नोटिस, जानें वजह

181

Patna:बिहार विधान परिषद की 9 रिक्त सीटों के लिए चल रहे चुनाव में गुरुवार को नामांकन करने वाले कांग्रेस के इकलौते प्रत्याशी समीर कुमार सिंह को शपथ पत्र की त्रुटियों के कारण निर्वाची पदाधिकारी व विस सचिव बटेश्वरनाथ पांडेय ने नोटिस किया है.

शपथ पत्र को पूर्ण कर दुबारा समर्पित करने के लिए उन्हें शुक्रवार की सुबह 10 बजे तक का समय दिया गया है. पूछे जाने पर निर्वाची पदाधिकारी श्री पांडेय ने बताया कि सप्लीमेन्ट्री के तहत एफिडिबिट के कुछ कालम में आधी-अधूरी जानकारी को पूर्ण करने कर कांग्रेस प्रत्याशी को 10 बजे तक जमा करने का मौका दिया गया है, चूंकि 11 बजे से नामांकन पत्रों की जांच निर्धारित है, इसलिए उन्हें इसके पहले का समय दिया गया है.

बिहार विधान परिषद की 9 सीटों के लिए चुनाव हो रहा है. इसमें से एक सीट कांग्रेस के कोटे की है. बीजेपी ने संजय मयूख और सम्राट चौधरी को अपना उम्मीदवार बनाया है. वहीं राजद की तरफ से मोहम्मद फारुख, सुनील कुमार सिंह और प्रोफेसर रामबली सिंह विधान परिषद प्रत्याशी हैं. सत्ताधारी जदयू के खाते में 3 सीट गई है. जदयू ने प्रोफेसर गुलाम गौस, कुमुद वर्मा और भीष्म साहनी को अपना उम्मीदवार बनाया है.

बिहार विधान परिषद के लिए गुरुवार को एनडीए के पांचों प्रत्याशियों ने अपने नामांकन पत्र दाखिल किये. बिहार विधानसभा के सचिव तथा इस चुनाव के निर्वाचन पदाधिकारी बखेश्वरनाथ पांडेय के समक्ष भाजपा प्रत्याशी संजय प्रकाश उर्फ संजय मयूख, सम्राट चौधरी और जयदू की ओर से प्रो. गुलाम गौस, कुमुद वर्मा और भीष्म साहनी ने अपना-अपना पर्चा दाखिल किया. इस दौरान सीएम नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल भी मौजूद थे.