शहाबुद्दीन को नहीं मिली पैरोल, पिता के अंतिम संस्कार में नहीं हो पाएंगे शामिल

230

Patna: शहाबुद्दीन को तिहाड़ जेल ने पैरोल देने से इंकार कर दिया है. शहाबुद्दीन पैरोल नहीं मिलने के कारण आज अपने पिता के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो पाएंगे. बताया जा रहा था कि शहाबुद्दीन जेल से पैरोल मिलने के बाद अपने पिता के अंतिम संस्कार में शामिल होते, लेकिन उनको पैरोल नहीं मिल पाया. इसके पीछे का कारण लंबी कानूनी प्रक्रिया बताया जा रहा है.

पैरोल की लगाई थी अर्जी

सीवान से आरजेडी के पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन ने तिहाड़ जेल से पैरोल को लेकर डीजी के पास अर्जी लगाई थी. कल उनके पिता का निधन हुआ है. वह अंतिम संस्कार में शामिल होना चाहते थे. लेकिन पेरौल नहीं मिल पाया. 2018 से शहाबुद्दीन तिहाड़ जेल में बंद है.

कल हुआ था पिता का निधन

शहाबुद्दीन के पिता शेख हसिब्बूल्लाह का कल निधन हो गया. 85 साल के शेख हसिब्बूल्लाह करीब 2 महीने से बीमार चल रहे थे. जिन्हें इलाज के लिए पटना के एक हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. इलाज के बाद उन्हें घर ले जाया गया था. जहां उन्होंने अपने पैतृक निवास पर ही आखिरी सांस ली. पिता के निधन के बाद शहाबुद्दीन के घर में मातम छा गया है. राजद के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन के पिता शेख हसिब्बूल्लाह का निधन हुसैनगंज प्रखंड के प्रतापपुर गांव स्तिथ उनके पैतृक निवास पर हुआ. शहाबुद्दीन फिलहाल दिल्ली जेल में बंद हैं. शहाबुद्दीन तीन भाई थे लेकिन पिछले साल ही उनके एक भाई शेख समसुद्दीन का भी आकस्मिक निधन हो गया था. भाई शेख समसुद्दीन के निधन के बाद बड़े भाई ज्ञासुद्दीन और शहाबुद्दीन ही हैं.

तिहाड़ जेल में बंद है शहाबुद्दीन

सुप्रीम कोर्ट ने सीवान के दिवंगत पत्रकार राजदेव रंजन की पत्नी आशा रंजन और चंद्रशेखर प्रसाद की याचिका पर बिहार में तीन दर्जन से अधिक आपराधिक मुकदमों का सामना कर रहे शहाबुद्दीन को 15 फरवरी 2018 को सीवान जेल से दिल्ली की तिहाड़ जेल में ट्रांसफर करने का आदेश दिया था. जिसके बाद से शहाबुद्दीन तिहाड़ जेल में बंद है.