हवाई यात्रा करने वालों के लिए झटका! इन पैसेंजर्स पर लगेगा नया चार्ज, सफर होगा महंगा

79

Patna: कोरोना संकट के बीच ज्‍यादातर सेक्‍टर्स आर्थिक दिक्‍कतों (Economic Crisis) का सामना कर रहे हैं. ऐसे में नकदी संकट और घाटे से उबरने के लिए हर सेक्‍टर कुछ कदम उठा रहा है. इसी क्रम में एविएशन सेक्‍टर (Aviation Sector) में ऐसे कदम उठाए जाने की योजना है, जो हवाई यात्रियों (Flyers) के लिए महंगे साबित हो सकते हैं.

दरअसल, दिल्‍ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (DIAL) ने हवाई यात्रियों पर पर नया चार्ज (New Charge) लगाने का फैसला किया है. इससे देश की राजधानी से हवाई सफर करना महंगा हो जाएगा. डायल का कहना है कि कोरोना संकट के कारण ऑपरेशंस बंद रहने से कमाई (Revenue) में आई गिरावट की भरपाई करने की योजना बनाई जा रही है. इसके लिए डायल ने रेग्‍युलेटरी मंजूरी मांगी है.

डोमेस्टिक और इंटरनेशल पैसेंजर्स से लिया जाएगा इतना चार्ज
डायल ने दिल्‍ली से उड़ान भरने वाले हर डोमेस्टिक पैसेंजर (Domestic Passenger) से 200 रुपये और इंटरनेशनल पैसेंजर (International Passenger) से 300 रुपये चार्ज करने की योजना बनाई है. डायल ने एयरपोर्ट इकोनॉमिक रेग्‍युलेटरी अथॉरिटी (AERA) से नए चार्ज को मार्च 2024 तक जारी रखने की मंजूरी मांगी है. इसके अलावा डायल ने पिछले हफ्ते नागरिक विमानन मंत्रालय (Civil Aviation Ministry) को दूसरी याचिका दी है. इसमें मंत्रालय से एईआरए को यह निर्देश देने के लिए कहा गया है कि वह एयरपोर्ट के टैरिफ (Airport Tariff) तय करते वक्‍त कोरोना संकट के चलते कमाई में आई गिरावट को ध्‍यान में रखे. कंपनी ने कहा है कि ऐसा नहीं करने पर नकदी की जबरदस्‍त समस्‍या पैदा हो सकती है. इसके चलते एयरपोर्ट परिचालन जारी रखना मुश्किल हो जाएगा.

अस्‍थायी तौर पर डेवलपमेंट फीस के रूप में वसूला जाएगा चार्ज
मुंबई एयरपोर्ट (Mumbai Airport) ने भी हर घरेलू यात्री पर 200 रुपये और अंतरराष्‍ट्रीय यात्री पर 500 रुपये चार्ज लगाने की मांग की है. साथ ही कहा है कि इसे अस्‍थायी रूप से डेवलपमेंट फीस (Development Fees) के तौर पर वसूला जाएगा. उसकी याचिका पर एईआरए विचार कर रहा है. एयरपोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (AAI) और हैदराबाद व कोच्चि के पीपीपी एयरपोर्ट्स ने कहा है कि वे अभी कोई चार्ज लेने के बारे में नहीं सोच रहे हैं. बता दें कि एविएशन इंडस्‍ट्री पर कोविड-19 का बहुत बुरा असर पड़ा है. करीब दो महीने बंद रहने के बाद मई 2020 के आखिरी सप्‍ताह में केंद्र ने घरेलू उड़ान की मंजूरी दी थी.

ये भी पढ़ें- भारत ने चीन को दिया तगड़ा झटका! जनवरी-नवंबर 2020 में बीजिंग से आयात घटाकर बढ़ाया निर्यात

मार्च 2024 तक डायल को 3538 करोड़ के नुकसान का अनुमान
डायल प्रबंधन ने विमानन मंत्रालय को लिखी चिट्ठी में आशंका जताई है कि उसे अप्रैल 2020 से मार्च 2024 तक 3,538 करोड़ रुपये का नुकसान होगा. डायल ने अप्रैल-सितंबर 2020 में 419 करोड़ रुपये के नुकसान की बात कही है. साथ ही पूरे वित्‍त वर्ष के लिए नुकसान 939 करोड़ रुपये रहने के आसार हैं. दिल्‍ली एयरपोर्ट से वित्‍त वर्ष 2019-20 में 7 करोड़ यात्रियों ने हवाई यात्रा की है. चालू वित्‍त वर्ष में इसके 2 करोड़ से कम रहने के आसार हैं. कंपनी ने अनुमान जताया है कि यह स्थिति वित्‍त वर्ष 2024 तक बनी रहेगी.