साइबर क्राइम में दूसरे नंबर पर पटना, फर्जी लेन-देन में दिल्ली टॉप पर

147

Patna: आरबीआई की तरफ बैंकिंग क्षेत्र में हो रहे साइबर हमलों की शिकायतों के बारे में भी पूछा गया। इस बारे में जवाब देते हुए बताया गया कि 1 जुलाई 2019 से 30 जून 2020 के दौरान अनाधिकृत इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर की 19,652 शिकायतें मिली हैं। इन शिकायतों से जुड़े देश भर के बड़े जिलों की सूची भी दी गई है। कुल शिकायतों में नई दिल्ली पहले नंबर पर, पटना दूसरे, शहरी बंगलुरू तीसरे, मुंबई उपनगरीय क्षेत्र चौथे और गौतमबुद्ध नगर पांचवे नंबर है। इस पर बैंकों का कहना है कि वह ग्राहकों की शिकायतों को समयबद्ध तरीके से हल करने का काम करते हैं। रिजर्व बैंक की तरफ से जो भी मामले बैंकों के पास भेजे जात हैं उनको भी तुरंत निपटाया जाता है।

देश भर के टॉप टेन बड़े जिलों में फर्जी लेन देन की शिकायतें

जिले शिकायतें
नई दिल्ली 496
पटना 392
शहरी बंगलुरू 392
मुंबई उपनगरीय क्षेत्र 321
गौतमबुद्ध नगर 313
गुरुग्राम 311
पुणे 308
थाणे 302
मुंबई 301

भारतीय रिजर्व बैंक के पास ग्राहकों ने बैंकों के खिलाफ पिछले एक साल में करीब 4 लाख शिकायतें दर्ज कराई हैं। ये शिकायतें डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड से लेकर बिना जानकारी शुल्क लगाने समेत खराब बैंकिंग सेवाओं से जुड़ी 20 से ज्यादा श्रेणी में की गई हैं। आरटीआई में यह भी बताया गया है कि मार्च से जून के दौरान रिजर्व बैंक के निर्देशों के उल्लंघन के भी हजारों मामले देखे गए हैं। साथ ही गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों ने बैंकों की तुलना में ग्राहकों को ज्यादा ठगा है।

देशभर में मार्च से जून 2020 के बीच अप्रैल को छोड़ दें तो हर महीने 30 हजार से ज्यादा शिकायतें मिलीं। अप्रैल में ये आंकड़ा साढ़े अट्ठाइस हजार शिकायतों का था। इस दौरान कुल 120542 शिकायतें दर्ज कराई गई हैं। आरटीआई में आरबीआई ने ये भी बताया है कि शिकायतों में सरकारी और निजी क्षेत्र दोनों के बैंक शामिल हैं। इसमें 92,231 शिकायतों के साथ भारतीय स्टेट बैंक सबसे ऊपर हैं। दूसरे नंबर पर निजी क्षेत्र का बैंक एचडीएफसी है। इसके खिलाफ ग्राहकों ने 29,276 शिकायतें की हैं।

हर महीने 30 हजार से ज्यादा शिकायतें

बैंक  शिकायतें
एसबीआई 92231
एचडीएफसी 29276
आईसीआईसीआई 23245
एक्सिस बैंक 18532
पीएनबी 18120
बैंक ऑफ बड़ौदा 12524
बैंक ऑफ इंडिया 10399
कोटक महिंद्रा 9208
केनरा बैंक 8043
यूनियन बैंक 7983