तेजप्रताप यादव ने फिर दिखाए अपने तेवर, राजद छात्र नेताओं के लिए टिकट की मांग की

300

Patna:बिहार विधानसभा चुनाव के पहले एक बार फिर तेज प्रताप अपने करीबीयों को टिकट दिलाने के लिए पार्टी नेतृत्‍व पर दबाव बना रहे हैं. अब उन्‍होंने छात्र राजद नेताओं के लिए टिकट की मांग की है. कहा है कि जमीन से जुड़े युवा छात्र नेताओं को वे विधान सभा चुनाव का टिकट दिलाएंगे. इसके लिए वे राजद (RJD) प्रमुख व पिता लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) से भी बात करेंगे. . अब पार्टी नेतृत्‍व उनके दबाव के आगे कितना झुकता है यह तो समय ही बताएगा. बहरहाल परिवार में खासकर दोनों भाईयों तेज प्रताप यादव और तेजस्‍वी के बीच एकता का प्रदर्शन हो रहा है. हाल ही में तेज प्रताप यादव ने तेजस्‍वी और परिवार के अन्‍य सदस्‍यों को अपने सरकारी आवास पर डिनर पर बुलाया था. गौरतलब है कि तेज प्रताप अपने समर्थकों के लिए टिकट की मांग करते रहे हैं. कई बार उनकी मांगों के कारण पार्टी को नुकसान भी झेलना पड़ा है.

बता दें कि हाल ही में रांची में पिता लालू प्रसाद यादव से मिलकर लौटने के बाद बड़े पुत्र व विधायक तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) ने सियासी गतिविधियां बढ़ा दी हैं. आजकल अक्‍सर वे राजद (RJD) कार्यालय में बैठते हैं . वहां टिकट के दावेदारों से मुलाकात करते हैं . कई दावेदारों को उल्‍लेखनीय है कि पिछले तीन सालों से वे राजद कार्यालय नहीं गए थे. कई से मुलाकातियों से कहा है कि जमीन से जुड़े कार्यकर्ता को ही टिकट दिया जाएगा. मगर टिकट तो किसी भी क्षेत्र में एक ही कार्यकर्ता को दिया जाएगा. जो वंचित रह जाएंगे उन्हें निराश नहीं होना है. आगे भी रास्ता खुला रहेगा. तेज प्रताप ने चार सितंबर (4th September) को छात्र राजद के कार्यक्रम की समीक्षा की. इसके बाद एलान किया कि आगामी विधान सभा चुनाव के लिए छात्र राजद के जमीन से जुड़े युवा नेताओं को भी टिकट मिलना चाहिए.

उल्‍लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव के दौरान भी तेज प्रताप यादव अपने चार-पांच समर्थकों के लिए टिकट चाह रहे थे. जब टिकट मिली नहीं तो उन्‍होंने बगावत कर दी. लालू-राबड़ी मोर्चा बनाकर शिवहर जहानाबाद और मधुबनी में कुछ करीबी को टिकट भी दे दी. जहानाबाद में लालू-राबड़ी मोर्चे पर उनके करीबी ने चुनाव भी लड़ा. इससे पार्टी को ही नुकसान झेलना पड़ा था.