तेजस्वी की मांग, बिहार में बन रही फिल्म सिटी का नाम सुशांत सिंह राजपूत हो

179

Patna: RJD नेता तेजस्वी यादव गुरुवार को एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के घरवालों से मिलने पहुंचे. सुशांत के पटना स्थित घर पर तेजस्वी ने उन्हें श्रद्धांजलि दी. वहीं, मुलाकात के बाद तेजस्वी ने मांग उठाई कि राजगीर में जो फिल्म सिटी बन रही है, वो सुशांत सिंह राजपूत के नाम पर हो.

दरअसल अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के घर पर नेताओं-अभिनेताओं का पहुंचना जारी है. इसी कड़ी में गुरुवार की शाम में बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव और तेज प्रताप यादव भी पहुंचे. उनके साथ राजद के कई दिग्‍गज नेता भी शामिल थे. उन्‍होंने सुशांत सिंह राजपूत की तस्‍वीर पर पुष्‍प अर्पित किए. बाद में वे सुशांत के पिता केके सिंह से मिले. बता दें कि पटना के राजीव नगर में सुशांत का पैतृक आवास है.

बता दें कि इसके पहले उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी भी पिछले दिनों दिवंगत फिल्‍म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के राजीव नगर स्थित घर पर पहुंचे थे. उनके पिता से मुलाकात कर संवेदना जतायी थी. जदयू के मुख्‍य प्रवक्‍ता संजय सिंह ने भी सुशांत के पिता से मिले थे. संजय सिंह तो घटना के दिन भी उनके पिता से मुलाकात की थी. इसके अलावा फिल्‍म अभिनेता मनोज तिवारी, एक्‍टर पवन सिंह, एक्‍टर खेसारी लाल यादव, एक्‍टर राकेश मिश्रा, सिंगर-एक्‍टर अक्षरा सिंह अ‍ादि ने मुलाकात की थी. इतना ही नहीं, लोजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष चिराग पासवान ने तो इसकी जांच के लिए महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र भी लिखा था.

गौरतलब है कि लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने इस प्रकरण में चिराग ने पिछले सप्‍ताह उद्धव ठाकरे से फोन पर बात भी की थी. वहीं उन्‍होंने ठाकरे को अपने पत्र में कहा है कि सुशांत की आत्महत्या से फिल्म जगत के साथ-साथ बिहार व पूरे देश में शोक की लहर है. उनके परिवार के सदस्यों के साथ वह लगातार संपर्क में हैैं. उनके नजदीक के लोगों ने इसके पीछे छिपी साजिश की ओर इशारा किया है. सभी का यह मानना है कि वह भारतीय फिल्म जगत में पनप रही गुटबंदी का शिकार हुए. कई लोगों ने कहा कि बाहरी होने की वजह से गुटबंदी कर बड़े निर्माताओं ने उनका बहिष्कार कर दिया था. इस कारण उन्हें आत्महत्या करनी पड़ी.