तेजस्वी ने बेड पर रखे शव का वीडियो किया पोस्ट, लगाया डॉक्टर के न रहने का आरोप

65

Patna:राजद नेता तेजस्वी यादव ने एक वीडियो ट्विटर पर पोस्ट किया है. वीडियो अस्पताल का है जिसके बेड पर मृत मरीज का शव रखा है. उसके बगल के बेड पर दूसरे मरीज भर्ती हैं, जिनका इलाज चल रहा है. तेजस्वी ने लिखा है कि बिहार की भयावह स्थिति देखिए. कोरोना वार्ड में 2 दिन से मृत मरीजों के शव रखे हैं. स्वस्थ मरीज बगल वाले बेड पर लेटे हैं. कोई डॉक्टर, नर्स और कर्मी नहीं है. परिजन देखभाल कर रहे हैं.

कोरोना पॉजिटिव की मौत के बाद शव हटाने में देरी से मरीजों में आक्रोश
पटना के कोरोना अस्पताल एनएमसीएच (नालंदा मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल) में पॉजिटिव मरीजों की मौत के बाद शवों को उठाने में देर किए जाने की शिकायत सामने आ रही है. इस कारण भर्ती मरीजों में रोष है. बुधवार को पांच मरीजों की मौत के बाद शवों को देर से उठाए जाने को लेकर भर्ती मरीजों ने आक्रोश प्रकट किया. मरीजों का कहना है कि शव को बेड पर ही छोड़ दिया जाता है.

अस्पताल में संक्रमित के अलावा संदिग्ध मरीज भी भर्ती रहते हैं. एक मरीज की मानें तो मंगलवार की देर रात दो और संदिग्ध मरीज की मौत हुई. उनका शव बेड पर ही छोड़ दिया गया था. इस संबंध में अस्पताल अधीक्षक से पूछे जाने पर बताया कि किसी भी पॉजिटिव मरीज की मौत के बाद अस्पताल प्रशासन को एक लंबी प्रक्रिया पूरी करनी होती है. शव को सेनेटाइज करना होता है. इसके बाद प्रशासन को भी सूचित किया जाता है. परिवार वालों को सूचना दी जाती है. इस स्थिति में कुछ वक्त लग जाता है. शव को निर्धारित स्थानों तक भी सुरक्षित तरीके से प्रशिक्षित लोगों से ही भेजा जाता है. हर एक कदम पर सुरक्षा का ख्याल रखना जरूरी होता है.