राजधानी में फिर मंत्रियों के घर डूबे, डीएम आवास के पास भी 2 फीट से अधिक पानी

130

Patna: पटना में शनिवार दोपहर में करीब दो घंटे तक झमाझम बारिश हुई. इससे गली-मोहल्ले के साथ वीवीऑईपी इलाकों में भी पानी जमा हो गया. कई मंत्रियों के आवास में फिर पानी घुस गया. डीएम आवास के पास भी दो फीट पानी जमा हो गया. शुक्र है कि नगर विकास विभाग और प्रशासन की सक्रियता से कई मोहल्लों से पानी तेजी से निकल गया.

शनिवार शाम 5 बजे तक राजधानी में 71.8 मिमी बारिश हुई. राजेंद्रनगर व कंकड़बाग में लोगों के घरों में पानी घुस गया. बाइपास की दोनों तरफ के मोहल्लों की हालत तो पहले से ही बदतर थी. उनकी स्थिति और बिगड़ गई है. घरों से निकलना मुश्किल हो गया है. उधर, ठनका से सारण में 5, रोहतास में 4, पटना, कैमूर, जहानाबाद, औरंगाबाद व बक्सर में 2-2 और सहरसा में एक की जान चली गई.

राज्य में अगले 24 घंटे तक मध्यम से तेज बारिश होती रहेगी. कई जगहों पर वज्रपात की भी आशंका है. मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक मोतिहारी में सबसे अधिक 140 मिमी बारिश हुई. पटना, भोजपुर, वैशाली और नालंदा जिले में फिर बिजली गिरने की चेतावनी दी गई है.

मुंबई | कई राज्यों में मानसून की बारिश के बीच मुंबई और उससे लगे इलाकों में लगातार दूसरे दिन तेज बारिश हुई. इस दौरान हाईटाइड भी आया जिससे मरीन ड्राइव समेत कई जगह समुद्र में 15 फीट ऊंची लहरें उठीं. उत्तर भारत के राज्यों के कई शहर सूखे रहे.

पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव के आवास के कैंपस में करीब तीन फीट पानी जमा हो गया. गाड़ियों के चक्के डूब गए. कृषि मंत्री प्रेम कुमार के आवास में भी करीब दो फीट पानी जमा हो गया. नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा के भी गेट पर पानी लग गया. पानी निकालने के लिए निजी बोरिंग लगाई गई है. पथ निर्माण मंत्री के आवास में पिछले रविवार को हुई तेज बारिश के बाद भी जलजमाव हुआ था. इसे निकालने में करीब छह घंटे लगे थे. उधर, डीएम आवास के ठीक सामने गांधी मैदान के बाहर सड़क पर दो फीट से अधिक पानी जमा था.